संगठन

प्रभाग

इंदिरा गॉंधी राष्ट्री य कला केन्द्री में छह कार्य-इकाइयां हैं-
 

  • कला निधि – बहु-प्रारूपी पुस्तरकालय;
  • कला कोश – जो कि मुख्यी रूप से भारतीय भाषाओं में मूल-पाठों के अध्यंयन और प्रकाशन का काम देखता है;
  • जनपद संपदा – जीवन-शैली के अध्यजयन से जुड़ा है;
  • कलादर्शन- वह कार्यकारी इकाई जो इंदिरा गॉंधी राष्ट्रीपय कला केन्द्रड से नि:सृत शोधों और अध्यतयनों को प्रदर्शनियों के माध्यइम से दृश्य् रूप में परिवर्तित करती है;
  • सांस्कृनतिक सूचना-विज्ञान- जो प्रौद्योगिकी साधनों का अनुप्रयोग करते हुए सांस्कृ तिक परिरक्षण और प्रचार की जिम्मेुदारी निभाता है;
  • आदि-दृश्य – यह इकाई प्रागैतिहासिक शैल कला के अध्यायन में संलग्नक है;
  • संरक्षण प्रयोगशाला – पुस्तषकों, पांडुलिपियों, पुरा-वस्त्रों , चित्रकलाओं आदि के संरक्षण में जुटी हुई है;
  • सूत्रधार – प्रशासनिक अनुभाग जो सभी गतिविधियों की सहायता और समन्वंय के लिए सूत्रधार की भूमिका निभाता है।

  
इंदिरा गॉंधी राष्ट्री य कला केन्द्रय के तीन क्षेत्रीय केन्द्र भी हैं-
 

  • बंगलुरू क्षेत्रीय केन्द्र जिसकी स्थासपना 2001 में की गई थी; इसका उद्देश्यो इस केन्द्रा द्वारा बंगलुरू क्षेत्रीय केन्द्र की कला और सांस्कृ तिक विरासत के संबंध में किए जा रहे अध्य यन कार्यों को सघन करने का है; आगे की जानकारी के लिए यहां क्लििक करें…..
  • वाराणसी क्षेत्रीय केंद्र- कलाकोश प्रभाग का ही विस्ताकर है। यह कार्यालय, कलाकोश के भारत-विद्या संबंधी अध्य यन और संस्कृ त अध्यवयन में शैक्षिक सहायता प्रदान करता है। आगे की जानकारी के लिए यहां क्लिरक करें…..
  • गुवाहाटी क्षेत्रीय केन्द्र- यह केन्द्रभ गुवाहाटी क्षेत्रीय केन्द्र के संस्कृ ति-समृद्ध समुदायों से जुड़े कार्यक्रमों में सहयोग करता है। आगे की जानकारी के लिए यहां क्लिेक करें…..